अभियान के बारे में | स्कूल चलें अभियान, मध्यप्रदेश



अभियान के बारे में



विकसित मध्यप्रदेश के निर्माण के लिए शिक्षित मध्यप्रदेश आवश्यक है। शिक्षित मध्यप्रदेश के निर्माण के लिए आवश्यक है कि, प्रदेश का हर बच्चा स्कूल जाए और अपनी पढ़ाई गुणवत्ता से पूरी करे। इसी भावना से मध्यप्रदेश में शैक्षिक सत्र के प्रारंभ में स्कूल जाने योग्य आयु बच्चों को स्कूलों में दर्ज कराने के लिए स्कूल चलें हम अभियान संचालित किया जाता है। स्कूल चलें हम अभियान में स्कूल में प्रवेश के साथ गुणवत्तायुक्त शिक्षा प्राप्त करने पर भी केन्द्रित है। बच्चों के स्वास्थ्य और स्वच्छता पर भी विशेष ध्यान देते हुए अभियान में हाथ धुलाई कार्यक्रम को पंचायतों की पंच परमेश्वर योजना से जोडा जा रहा है। स्कूल चलें हम अभियान एक जनअभियान के रुप में वर्ष भर चलेगा, जिसमें समाज के हरेक वर्ग की सहभागिता ली जावेगी। कोई भी व्यक्ति, स्वयंसेवी संस्थाएं, औद्योगिक प्रतिष्ठान और मीडिया के मित्र, सभी इस अभियान से प्रेरक के रुप में जुड़ सकते है। अपना मध्यप्रदेश बनाने के प्रण और समृद्ध मध्यप्रदेश के निर्माण की भावना से ओतप्रोत ये प्रेरक अभियान के तहत बच्चों को शाला में प्रवेश तथा उनकी शैक्षिक मज़बूती के लिए अपनी क्षमता तथा सामर्थ्य के अनुसार कार्य करते हुये भविष्य के खुशहाल और समृद्ध मध्यप्रदेश की नींव को रखने में भागीदार बनेंगे। माननीय मुख्यमंत्रीजी का आव्हान प्रेरक बनने के लिए प्रोत्साहित करता है। वॉलंटियर के रुप में जुडने के लिये वेबसाइट http://schoolchalehum.mp.gov.in पर पंजीयन कर प्रदेश के विकास का सहयोगी बनाता है। मिस्ड कॉल के बाद मुख्यमंत्रीजी के धन्यवाद संदेश मिलता है, तत्पश्चात विभाग के अधिकारी संपर्क करते हैं, और सिलसिला शुरु होता है सामाजिक समरसता का। विद्यादान और राष्ट्र निर्माण में सहभागी बनने का। विकसित और समृद्ध मध्यप्रदेश के निर्माण का..... सफलताओं के नये आयामों का .......