कार्यक्रम सम्बंधी निर्देश | स्कूल चलें अभियान, मध्यप्रदेश

कार्यक्रम सम्बंधी निर्देश

पंजीयन की प्रक्रिया

पंजीयन के कार्य हेतु www.schoolchalehum.mp.gov.in वेबसाईट का उपयोग किया जायेगा। कार्यक्रम हेतु इच्छुक वॉलंटियर की दो श्रेणियों होंगी - पूर्व से पंजीकृत वॉलंटियर एवं नवीन वॉलंटियर।

कार्यक्रम में सहभागिता हेतु वॉलंटियर

‘मिल-बाँचे मध्यप्रदेश’ कार्यक्रम में वॉलंटियर माननीय जनप्रतिनिधिगण, स्कूल चलें हम अभियान के तहत पंजीकृत प्रेरक, कार्यरत/सेवानिवृत्त शासकीय अधिकारी/सेवक, निजी क्षेत्र में कार्यरत पेशेवर व्यक्ति, शालाओं के पूर्व छात्रों को उस शासकीय शाला में जिसमें वह पढ़े हैं या अन्य शासकीय प्राथमिक एवं माध्यमिक शाला में जाकर कार्यक्रम में सम्मिलित होने हेतु अनुरोध किया जाना है। अकादमिक सत्र 2018-19 में आयोजित होने वालें ‘मिल-बाँचे मध्यप्रदेश’ कार्यक्रम के प्रथम चरण के आयोजन में सम्मिलित होने वाले वॉलंटियर की इच्छा अनुसार निम्न विकल्प उपलब्ध रहेगें-

वॉलंटियर की व्यवस्था एवं पंजीयन प्रक्रिया निम्नानुसार होगी -

वॅालिन्टियर शाला की सहशैक्षिक गतिविधियों में सहयोग करने हेतु शाला पर एक बार जाना चाहता है अथवा शैक्षणिक सत्र के दौरान बालसभा दिवस पर एक से अधिक बार जाना चाहता है- का विकल्प वेबसाइट पर दर्ज कराना होगा। शाला पर शैक्षणिक सत्र के दौरान बालसभा दिवस पर एक से अधिक बार जाने की सहमति की स्थिति पर स्वयं के वेरिफिकेशन हेतु ID जैसे- आधार कार्ड, वोटर ID या ड्राइविंग लाइसेंस का चयन करना होगा। यदि एक से अधिक बार आने के लिए रजिस्टर करता है तो पोर्टल पर विकल्प उपलब्ध होगें। जैसे कहानी एवं लेख पढ़ने, बच्चों को रचनात्मक लेखन, चित्रकारी, सार्वजनिक बोल-चाल का कौशल बढाने, खेल-कूद क्रियाकलाप, कहानी एवं निबंध लेखन, अकादमिक काउन्सलिंग, जीवन विकास कौशल, गीत-संगीत सिखाने, नृत्य सिखाने, नाटक तैयार करने इत्यादि। उपयुक्त गतिविधियों में से वॉलंटियर चयन कर सकेगें। चूँकि प्रत्येक शनिवार को बालसभा का आयोजन होता है अतः एक से अधिक बार शाला में जाने वाले इच्छुक वॉलंटियर मात्र शनिवार को मघ्याह्न भोजन उपरांत शाला में उपस्थित हो सकेंगे। शैक्षणिक सत्र के दौरान माह के कौन से शनिवार की बालसभा में वॅालिन्टियर शाला की सह-शैक्षिक गतिविधियों में सहयोग करने हेतु शाला पर उपस्थित होगें, का चयन करना होगा। वॅालिन्टियर द्वारा चयनित शाला में सहशैक्षिक गतिविधियों में सहयोग करने से संबधित फीडबैक को वेबसाईट पर भी दर्ज करना होगा। कार्यक्रम के फोटोग्राफ व वीडियो अथवा विशेष प्रसंग आदि को वेबसाईट पर अपलोड किये जा सकते है। विद्यालय में उपस्थित होने वाले वॉलंटियर द्वारा प्रस्तुत जानकारी/दस्तावेज का अवलोकन भी जिला/ब्लॉक/शाला स्तर पर कर लिया जाए ताकि आयोजन के दौरान कोई अप्रिय स्थिति निर्मित न हो।

शासकीय शालाओं में अध्ययनरत छात्रों का डाटाबेस तैयार करना

कई अवसरों पर शाला के पूर्व छात्र व्यक्तिगत रूप से या संगठित रूप में शाला विकास में सक्रिय रूप से योगदान देते हैं। अतः शासकीय शालाओं से पढे पूर्व छात्र-छात्राओं का शालावार डाटाबेस तैयार किया जाएगा। जिसके लिए वॅालन्टियर द्वारा चयनित शाला में अध्ययन किया है अथवा नही का चयन करना होगा। यदि वॅालन्टियर चयनित शाला में पूर्व में अध्ययनरत था तो वर्ष एवं कक्षा का चयन करना होगा। वॅालिन्टियर यदि चयनित शासकीय शाला में उपहार देना चाहते है तो शाला की आवश्यकता अनुसार उपहार देने हेतु एंट्री कर सकते हैं।